Uncategorized

किसानों ने विशाल रैली निकालकर राज्यपाल के नाम दिया ज्ञापन

भोपालपटनम – भोपाल पटनम ब्लॉक के हजारों किसानों ने रैली निकाल कर सत्रह मांगो की ज्ञापन राज्यपाल के नाम भोपाल पटनम तहसीलदार को सौंपा गया है,जिसमे किसानों के मांग के साथ साथ आदिवासी धर्म कोड की मांग की गई है,जिसमे किसानों ने धान की कीमत 5000 रुपए और बोनस 500 और किसानों का पूरा धान बिना टोकन के क्रय करने,नए बरदाने उपलब्ध कराने,किसानों के सभी बैंक का कर्ज माफ करने, एवम शराब दुकान बंद करने के अलावा कई मांग रखा गया है विकास खंड में किसानों ने 17 सूत्रीय मांगों को लेकर क्रमबद्ध रैली निकाली। यह रैली फारेस्ट नाका से निकलकर पेट्रोल पंप से होते हुए तहसील आफिस में राज्यपाल महोदय के नाम ज्ञापन सौंपा। इसका समापन नगर पंचायत स्थित स्टेडियम में हुआ। किसान संघ के समर्थन में समस्त व्यापारियों अपने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। किसान संघ के अध्यक्ष मरपल्ली किष्टैया के नेतृत्व में 35 ग्राम पंचायत के किसानों ने रैली निकाली। किसान संघ ने राज्यपाल महोदय के नाम का ज्ञापन अनुविभागीय

अधिकारी (राजस्व ) की अनुपस्थिति में तहसीलदार श्री कैलाश पोयाम को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में किसान संघ ने 17 सूत्रीय मांग की है जिसमें, किसानों को धान का समर्थन मूल्य ५०००/- रूपए एवं धान का बोनस ५००/- दिया जाए, किसानों का पूरा धान बिना टोकन के क्रय किया जाय, किसानों के समस्त उत्पादों को जितना विक्रय करना चाहते हैं, उतना समर्थन मूल्य पर क्रय किया जाय।, धान खरीदी केंद्र में तौल के नाम पर पैसा वसूलना बंद किया जाय,धान विक्रय हेतु नये बारदाने उपलब्ध कराते हुए, किसानों से पुराने बारदाने लेना बंद किया जाए,सभी प्रकार के अनाज, दलहन, तिलहन, फसलों को लागत राशि से दुगना समर्थन मूल्य पर क्रय हेतु गारंटी कानून बनाया जाय।,सूखा व अतिवृष्टि से हुए फसलों का उचित मुआवजा प्रदान करते हुए सभी किसानों का समस्त बैंकों का कर्ज माफ किया जाय,किसानों को नक्सलियों के नाम पर गिरफ्तार कर मारपीट करते हुए प्रताड़ित कर जेल भेजना बंद किया जाए,अंग्रेजी शराब दुकानों को बंद किया जाय, मवेशियों का मुफ्त में उचित इलाज कराने हेतु प्रत्येक तीन पंचायतों के सीमा क्षेत्र में एक पशु चिकित्सालय खोला जाय।,समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को सर्वसुविधायुक्त बनाया जाय, ग्रामों में उपलब्ध समस्त जल स्रोतों का परीक्षण कराकर नल जल के माध्यम से फिल्टर युक्त पेयजल उपलब्ध किया जाय, समस्त ग्रामों में सर्वसुविधायुक्त प्राथमिक शालाएं खोला जाय,आदिवासी समुदाय को पृथक धर्म कोड देते हुए आदिवासियों को 32प्रतिशत आरक्षण दिया जाए।, आदिवासी समुदाय के लोग प्रकृति के पुजारी हैं, हिन्दू एवं ईसाई धर्म को मानने वाले को आदिवासी न माना जाए, इन्द्रवती नदी में तिमेड़ एवं भद्रकाली तथा गोदावरी नदी में तारलागुड़ा एवं चन्दूर रेत खदानों को टेंडर के माध्यम से ठेकेदारो को देना बंद किया जाए,जल जंगल जमीन हमारा है,धनगोल एवं कुचनूर में कोरंडम खोलना बंद किया जाए।
किसानों संघ द्वारा आयोजित रैली में समस्त सरपंच, जनपद व जिला पंचायत सदस्यों, जनप्रतिनिधियों के साथ किसान मौजूद रहे।

img 20240116 wa00365311325866234236844 Console Corptech

Related Articles

Back to top button