Uncategorized

छात्रवासअधीक्षक हुए निलंबित,मंडल संयोजक को कारण बताओ नोटिस

छात्रावास में हुई घटना का विडियों वायरल

छात्रावास अधीक्षक हुए निलंबित एवं मंडल संयोजक को कारण बताओं नोटिस जारी

घटना को लेकर आवापल्ली थाना को एफआई आर दर्ज कराने के निर्देश

बीजापुर – प्री मैट्रीक बालक छात्रावास आवापल्ली के घटना संबंधी विडियों वायरल होने पर कलेक्टर श्री राजेन्द्र कुमार कटारा ने त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री केएस मशराम को दिए। कलेक्टर के निर्देशानुसार सहायक आयुक्त ने छात्रावास अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। वहीं मंडल संयोजक को घटना के संदर्भ में कारण बताओं नोटिस जारी किया है। सहायक आयुक्त द्वारा मिली जानकारी के अनुसार 26 जुलाई को दोपहर 1 बजे से 1ः30 बजे के दरम्यान 19 वर्षीय छात्रा ग्राम आवापल्ली ने अपने 12वीं कक्षा के अंकसूची लेने प्री. मैट्रिक बालक छात्रावास आवापल्ली वि.ख उसूर में निवासरत छात्र जो कक्षा 10 वीं में अध्ययनरत है के पास छात्रावास में आई हुई थी। विडियों रिकार्ड के अनुसार छात्रा के द्वारा अंकसूची की मांग छात्र से की जा रही थी, इस दौरान दोनों में विवाद हुआ तथा छात्र के द्वारा छात्रा के पेट में लात मारना प्रदर्शित है। 31 जुलाई 2023 को शाम में यह विडियों व्हाटसअप के माध्यम से मेरे संज्ञान में लाया गया। मामले को संज्ञान में लेते हुए मेरे द्वारा 1 अगस्त 2023 को प्रातः घटना स्थल पर पहुंच कर वस्तुस्थिति का जायजा लिया गया। संस्था के अधीक्षक एवं संस्था के 4 छात्रों को बयान लिया गया। बयान के आधार पर दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरतने वाले संस्था में पदस्थ प्रभारी अधीक्षक श्री रुद्रप्रताप झाड़ी शिक्षक एल.बी. को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जा कर इनका मुख्यालय जिला शिक्षा कार्यालय बीजापुर नियत किया गया है। मंडल संयोजक आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विकासखंड उसूर एवं संस्था में पदस्थ अन्य कर्मचारियों को कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया गया है। वर्तमान में श्री भूपेन्द्र मडी, व्याख्याता, स्वामी आत्मानंद विद्यालय आवापल्ली को प्रभारी अधीक्षक प्री. मै. बालक छात्रावास आवापल्ली का प्रभार सौंपा गया।
छात्र एवं छात्रा से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है, मंडल संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग विकासखंड उसूर द्वारा इस घटना की सूचना पुलिस थाना आवापल्ली में देने के निर्देश दिया गया है।

Related Articles

Back to top button